Kavya Kalpana

Rs.199.00

This delightful book is the latest in the series, this is collection of hindi poetry and will be available soon.You can order for this book in advance.

Category: Tags: , Product ID: 261

Description

काव्य की कल्पना के इस संसार में आप सभी का हृदय से स्वागत है। हिंदी भाषा में काव्य का उद्गम चिर काल में हुआ और सतत् परिवर्तन से आज एक विशेष रूप को प्राप्त हुआ है, जो इस काव्य संग्रह की एक अनूठी पहचान बनकर आपके समक्ष प्रस्तुत होगी। विभिन्न भावों का रेखांकन और चित्रण विभिन्न काव्य शिल्पों द्वारा विभिन्न शैलियों में किया गया है, जो साहित्य का सर्व भाव लिए हुए है। आशा यही है कि यह काव्य संग्रह आपको आशातीत आनंद प्रदान करेगा।
धन्यवाद!

– ऋषभ पाण्डेय
(मुख्य संपादक)

१. अनुपमा झा ८-२६ २. शशखा श्ीवास्तव २७-३४ ३. सौरभ आचाया ३५-५० ४. शुभी खरे ५१-५९ ५. अवनींद्र शसंह ‘बबर्स्मल’ ६०-६९ ६. शशवांिी िोयल ७०-८० ७. अंककता जैन ८१-८५ ८. कुशाग्र िुप्ता ८६-९० ९. श्ेया अवस्थी ९१-९३ १०. वैदेही शमाा ९४-९७ ११. हषाा पारीक ९८-१०१ १२. अतुल शसंघल १०२-१०६ १३. शिव ांगी निि द १०७-११०

Reviews

There are no reviews yet.

Only logged in customers may leave a review.